Cyclone Remal caused devastation (साइक्लोन रेमल की तबाही)

Cyclone Remal caused devastation : साइक्लोन रमल की तबाही देश भर में चर्चा का विषय का बना हुआ है  Cyclone Remal बंगाल की खाड़ी से उठी चक्रवाती तूफान रेमल का समुद्री तटों वाले इलाकों में काफी लैंडफॉल हो रहा है।

Cyclone Remal caused devastation (साइक्लोन रेमल की तबाही)
Cyclone Remal caused devastation (साइक्लोन रेमल की तबाही)

इसमें करीब 110-120 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाऐ चल रही है। जिसका असर बिहार में भी देखने को मिलने की आशंका दिख रही है। पटना आईएमडी के वैज्ञानिक कुणाल कौशिक मेटे ने बताया है कि साइक्लोन Remal चक्रवाती तूफान का असर बिहार के पूर्वी इलाकों में देखने को मिलने वाला है। हालांकि इसका असर कुछ हीं रहेगा लेकिन बिहार के पूर्वी भाग के जिलों में आंधी के साथ हल्के से मध्यम स्तर की बारिश होने की अनुमान लगाई जा रही है।

Cyclone Remal  पर नरेंद्र मोदी सरकार के क्विक एक्शन

cyclone remal के सन्दर्भ में मोदी सरकार ने प्रशासन और स्थानिय नागरिको को सचेत रहने को कहा, साथ हीं
मौसम वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों ने भी क्षेत्र के निवासियों से बदलते मौसम के लिए तैयार रहने का आग्रह किया है. मौसम विशेषज्ञों ने 28 मई तक के लिए चेतावनी जारी की.

साइक्लोन के मद्दे नजर NDRF ने भी अच्छी खासी तैयारी की है NDRF ने अपने तीन कंपनी को साइक्लोन से लड़ने के लिए तैयार रखा है NDRF ने आवश्यक दवाओं का भंडार खाने पिने की वास्तु व जरुरत पढ़ने पर कृत्रिम अस्पताल के लिए भी पूरी व्यवस्था कर रखी है साइक्लोन के भयाव: दृस्य को देखते हुवे वायु सेना के कुछ युनिटो को एलर्ट पर रहने को कहा है. स्थानीय प्रशाशन ने सरकार के कहने पर गर्भवती महिलाओ, बच्चो व बुजुर्गो को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया है

Cyclone Remal का नामकरण

Cyclone Remal का नामकरण ओमान ने किया, इसका अर्थ होता है “रेत” इस नामकरण करने का कारण था ताकी जनता को आसानी से याद रहे। ऐसे आपदाओं की जानकारी आम नागरिक तक पहुंच सके और नागरिक आपदाओं के घटित होने से पूर्व सचेत हो सके इसीलिए नामकरण किया जाता है।

Cyclone Remal caused devastation (साइक्लोन रेमल की तबाही)
Cyclone Remal caused devastation (साइक्लोन रेमल की तबाही)

Cyclone Remal कैसे आया 

वायुमंडलीय विक्षोभ या डिस्टर्बेंस की वजह से तूफान आता है।कम दबाव वाले क्षेत्र में बनता है जिसके कारण समंदर के ऊपर गर्म और नम हवाएं उठती है वही फिर आगे चलकर जब ये किसी ठंडी सतह से टकराने के वजह से तेज बारिश होने लगती है और फिर तेज हवाएं चलने लगती हैं। जिससे मौसमी स्थिति आगे चलकर तूफान का रूप रूप धारण कर लेती है।

Cyclone Remal  जैसे  तूफान कितने प्रकार के होते हैं?

**तूफान के प्रकार के संदर्भ में: वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाइजेश (WMO) ने तूफान को कुल 5 कैटेगरी में बांटा है।
चक्रतवात का प्रकार हवाओं की गति (किलोमीटर/घंटा) असर

  1. 1st कैटेगरी 119-153 कम नुकसान होने की
  2. 2nd कैटेगरी 154-177थोड़ा अधिक नुकसन
  3. 3rd कैटेगरी 178-208 काफी नुकसान होने की
  4. 4th कैटेगरी 209-251 इमारतों को नुकसान
  5. 5th कैटेगरी 250 सबसे खतरनाक चक्रवाती तूफ़ान
Cyclone Remal से कितने राज्य प्रभावित हैं? 

* पश्चिम बंगाल
* तटीय बांग्लादेश
* त्रिपुरा
•*पूर्वोत्तर राज्यों के कुछ हिस्से अन्य राज्यो में आंशिक रूप से

Cyclone Remal का भारत पर कब तक प्रभाव रहेगा?

मौसम वैज्ञानिकों एवं अधिकारियों ने क्षेत्र के निवासियों से 26 मई से मौसम स्थितियों के लिए तैयार रहने का आग्रह किया है. मौसम विशेषज्ञों ने 28 मई तक के लिए चेतावनी जारी की है जिसमे मौसम निगरानी एजेंसी द्वारा कहा गया कि आवश्यकता के आधार पर चेतावनी को बढ़ाया जाएगा।

FAQ of Cyclone Remal

प्रश्न 01 चक्रवात कैसे बनता है?

उत्तर:- वायुमंडलीय विक्षोभ या डिस्टर्बेंस की वजह से तूफान आता है।कम दबाव वाले क्षेत्र में बनता है जिसके कारण समंदर के ऊपर गर्म और नम हवाएं उठती है वही फिर आगे चलकर जब ये किसी ठंडी सतह से टकराने के वजह से तेज बारिश होने लगती है और फिर तेज हवाएं चलने लगती हैं। जिससे मौसमी स्थिति आगे चलकर तूफान का रूप रूप धारण कर लेती है।

प्रश्न 02. चक्रवात क्या है और कितने प्रकार के होते हैं?

उत्तर:- वायुमंडलीय विक्षोभ या डिस्टर्बेंस की वजह से तूफान आता है।कम दबाव वाले क्षेत्र में बनता है जिसके कारण समंदर के ऊपर गर्म और नम हवाएं उठती है वही फिर आगे चलकर जब ये किसी ठंडी सतह से टकराने के वजह से तेज बारिश होने लगती है और फिर तेज हवाएं चलने लगती हैं।तूफान के प्रकार के संदर्भ में: वर्ल्ड मेट्रोलॉजिकल ऑर्गेनाइजेश (WMO) ने तूफान को कुल 5 कैटेगरी में बांटा है।

प्रश्न 03. चक्रवात Remal का नाम किसने दिया?

उत्तर:- ओमान ने किया, इसका अर्थ होता है “रेत” इस नामकरण करने का कारण था


Abhishek Kumar is the editor of Nutan Charcha News. Who has been working continuously in journalism for the last many years? Abhishek Kumar has worked in Doordarshan News, Radio TV News and Akash Vani Patna. I am currently publishing my news magazine since 2004 which is internationally famous in the field of politics.


Instagram (Follow Now) Follow
WhatsApp Group (Join Now) Join Now
Facebook Group (Join Now) Join Now
Twitter (Follow Now) Follow Now
Telegram Group (Join Now) Join Now

Leave a Comment